विश्वहरि भोले बाबा ने कहा- भगदड़ में हुई घटना से बहुत दुखी है, भगवान हमें इस दर्द को सहने की शक्ति दे, उपद्रवी बख्शे नहीं जाएंगे

हाथरस
उत्तर प्रदेश के हाथरस के सिकंदराराऊ क्षेत्र स्थित फुलरई गांव में आयोजित हरिनारायण साकार विश्वहरि भोले बाबा के सत्संग में मची भगदड़ के बाद पहली बार सूरजपाल सामने आया है। उसने इस घटना पर दुख जताया है। बाबा ने कहा कि दो जुलाई को हुई घटना से बहुत दुखी है। भगवान हमें इस दर्द को सहने की शक्ति दे। कहा कि उपद्रवी बख्शे नहीं जाएंगे।

घटना को सूरजपाल ने बताया साजिश
इस घटना के बाद पुलिस बाबा की तलाश कर रही थी। इसी बीच बाबा ने पहली बार मीडिया के सामने आकर बयान दिया है। उसने कहा कि कृपया सरकार और प्रशासन पर भरोसा रखें। मुझे विश्वास है कि जिसने भी अराजकता फैलाई है, उसे बख्शा नहीं जाएगा। मैंने अपने वकील एपी सिंह के माध्यम से समिति के सदस्यों से अनुरोध किया है कि वे शोक संतप्त परिवारों और घायलों के साथ खड़े रहें और जीवन भर उनकी मदद करें। मैं पीड़ितों की मदद करूंगा। मृतकों के परिजनों के हमेशा साथ हूं। वहीं, इस घटना को सूरजपाल ने साजिश बताया है।

मुख्य आरोपी गिरफ्तार
बता दें कि हाथरस जिले के फुलरई गांव में 2 जुलाई को एक धार्मिक कार्यक्रम के दौरान मची भगदड़ में 121 लोगों की मौत हो गई तथा कई अन्य घायल हो गए। इस मामले के मुख्य आरोपी देवप्रकाश मधुकर को शुक्रवार देर रात पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। उत्तर प्रदेश सरकार की एजेंसियों ने उसे पकड़ने के लिए राज्य के साथ-साथ पड़ोसी राजस्थान तथा हरियाणा में तलाश शुरू कर दी थी। जिसके चलते पुलिस ने उसे कल गिरफ्तार कर लिया है। आज (6 जुलाई) देव प्रकाश मधुकर को हाथरस कोर्ट में पेश किया जाएगा।

उत्तर प्रदेश के हाथरस में सत्संग में हुई भगदड़ की न्यायिक जांच के लिए गठित न्यायिक जांच आयोग की टीम आज यानी 6 जुलाई को हाथरस जाएगी। सूत्रों के मुताबिक, टीम सुबह 11 बजे हाथरस पहुंचेगी और हाथरस के डीएम, एसपी सहित वहां के अधिकारियों के साथ बैठक कर घटना की प्राथमिक जानकारी जुटाएगी। दोपहर बाद घटनास्थल के लिए रवाना होगी।