छत्तीसगढ़-कोयला घोटाले में कोर्ट में पेश होंगे तीन आरोपी

रायपुर.

छत्तीसगढ़ में कोयला घोटाला को लेकर जांच लगातार जारी है। इसे लेकर अब ईओडब्ल्यू की टीम जेल में बंद आरोपियों को कोर्ट में पेश करने के बाद रिमांड में लेकर फिर पूछताछ करेगी। माना जा रहा है कि प्रदेश में कोयला घोटाला के मामले की जांच अभी लंबी चलने वाली है। इसे लेकर सौम्या चौरसिया, रानू साहू से पूछताछ के बाद मामले में अन्य आरोपियों से पूछताछ की जानी है।

कोल घोटाले को लेकर जेल में बंद आरोपी लक्ष्मीकांत तिवारी, शिवशंकर नाग, सुनील नायक और निखिल चंद्राकर को कोर्ट में प्रोडक्शन वारंट पर पेश किया जाएगा। मामले में आगे की पूछताछ को लेकर ईओडब्ल्यू ने जेल में बंद आरोपियों को प्रोडक्शन वारंट पर पेश करने के लिए आवेदन दिया था। जिसे कोर्ट ने स्वीकार कर लिया है। वहीं इन सभी आरोपियों को कोर्ट में पेश होने के बाद गिरफ्तार किया जा सकता है।

सौम्या और रानू को पूछताछ के बाद भेज दिया गया जेल –
छत्तीसगढ़ में 500 करोड़ के कोयला घोटाले के मामले में पूछताछ के बाद कुछ दिन पहले निलंबित आईएएस अफसर रानू साहू और राज्य सरकार की अफसर रही सौम्या चौरसिया को जेल भेज दिया गया था। जिसके बाद विशेष कोर्ट ने दोनों आरोपियों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजने का आदेश जारी किया था। इसके मुताबिक अब 18 जून तक रानू साहू और सौम्या चौरसिया को जेल में रहना पड़ेगा।

शराब घोटाले मामले में भी पूछताछ जारी –
दूसरी तफर प्रदेश के चर्चित शराब घोटाले के मामले को लेकर ईओडब्ल्यू की टीम लगातार आरोपियों से पूछताछ कर रही है। मामले में आरोपी अनवर ढेबर, त्रिलोक सिंह ढिल्लन, अरुणपति त्रिपाठी और अरविंद सिंह को भी विशेष कोर्ट में पेश किया गया था। इन सभी आरोपियों से पूछताछ के लिए अब यूपी एसटीएफ ने कोर्ट में प्रोडक्शन वारंट पर लेने के लिए आवेदन लगाया था। जिसके बाद यूपी एसटीएफ के आवेदन पर भी आज विशेष कोर्ट में सुनवाई हुई है। फिलहाल इस मामले में अभी कोई फैसला नहीं आया है। इस मामले को 10 जून तक कोर्ट ने सुरक्षित रखकर सुनवाई करने की बात कही है।