मध्य प्रदेश में नहीं हुआ बदलाव, इस बार भी राज्य से छह मंत्री; शिवराज सिंह चौहान समेत इन नेताओं को मिली जगह

भोपाल

केंद्र में लगातार तीसरी बार सत्तारूढ़ होने वाली एनडीए सरकार की नई कैबिनेट में मध्य प्रदेश से छह सांसदों को जगह मिली है। कैबिनेट मंत्री के रूप में शिवराज सिंह चौहान, वीरेंद्र कुमार और ज्योतिरादित्य सिंधिया ने शपथ ग्रहण ली है। शिवराज सिंह चौहान विदिशा, वीरेंद्र कुमार टीकमगढ़ और ज्योतिरादित्य सिंधिया गुना संसदीय सीट का प्रतिनिधित्व करते हैं। लगभग 16 साल तक मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे शिवराज सिंह चौहान केंद्र में पहली बार मंत्री बने हैं।

ज्योतिरादित्य सिंधिया और वीरेंद्र कुमार पूर्ववर्ती राजग सरकार में भी मंत्री पद का दायित्व संभाल रहे थे। इसके अलावा राज्य मंत्री के रूप में एल मुरुगन, दुर्गादास उइके और सावित्री ठाकुर शामिल की गई हैं। मुरुगन मूल रूप से तमिलनाडु से हैं, लेकिन मौजूदा वक्त में वह मध्य प्रदेश से राज्यसभा सांसद हैं। इस वजह से उनको मध्य प्रदेश के कोटे से जोड़ा जा रहा है। वह पिछली सरकार में भी राज्य मंत्री पद का दायित्व निभा रहे थे।

इसके साथ ही दुर्गादास उइके और सावित्री ठाकुर पहली बार केंद्र में मंत्री बनाए गए हैं। दोनों सांसद एसटी वर्ग का प्रतिनिधित्व करते हैं। दुर्गादास उइके बैतूल और सावित्री ठाकुर धार संसदीय क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं। माना जा रहा है कि मंत्रियों के चयन में क्षेत्रीय और जातीय समीकरण को ध्यान में रखा गया है। शिवराज सिंह चौहान ओबीसी का प्रतिनिधित्व करते हैं। वहीं वीरेंद्र कुमार अनुसूचित जाति का प्रतिनिधित्व करते हैं। वह टीकमगढ़ से पहले सागर संसदीय क्षेत्र का भी प्रतिनिधित्व कर चुके हैं।

वहीं शिवराज सिंह चौहान मध्य प्रदेश के मध्य अंचल का प्रतिनिधित्व करते हैं। शिवराज सिंह चौहान राज्य में 16 वर्ष से अधिक समय तक मुख्यमंत्री रहे हैं, इसलिए उन्हें संपूर्ण राज्य की भौगोलिक, सामाजिक और प्रत्येक कोण से विस्तृत जानकारी है। ज्योतिरादित्य सिंधिया उत्तरी अंचल से आते हैं। वहीं सावित्री ठाकुर मालवा अंचल से आती हैं। दुर्गादास उइके बैतूल और राज्य के पूर्वी हिस्से का भी प्रतिनिधित्व करते हैं। अब देखना होगा कि किसे कौन सा मंत्रालय दिया जाता है।

फग्गन सिंह कुलस्ते को नहीं मिली जगह

तोमर और पटेल को 2023 के विधानसभा चुनाव में उतारा गया था और बाद में उन्हें क्रमश: मध्य प्रदेश विधानसभा का अध्यक्ष और मंत्री बनाया गया, जबकि चार बार केंद्रीय मंत्री रह चुके कुलस्ते को इस बार जगह नहीं मिली।
शिवराज सिंह चौहान के मंत्री बनने पर मनाया गया जश्न

चौहान के मंत्रिमंडल में शामिल होने पर भोपाल में उनके आवास के बाहर भाजपा कार्यकर्ताओं ने जश्न मनाया। स्थानीय भाजपा पदाधिकारी अनिल अग्रवाल लिली ने ‘पीटीआई भाषा’ से कहा, "देश बहुत खुश है कि नरेन्द्र मोदी तीसरी बार प्रधानमंत्री बने हैं। चौहान के अनुभव से देश को बहुत लाभ होगा।" पार्टी विधायक मुकेश टंडन के नेतृत्व में भाजपा कार्यकर्ताओं ने भी चौहान के केंद्रीय मंत्री बनने पर जश्न मनाया। सावित्री ठाकुर के परिजनों और समर्थकों ने भी जश्न मनाया।
CM मोहन यादव ने दी बधाई

मुख्यमंत्री मोहन यादव ने राज्य के सभी छह केंद्रीय मंत्रियों को बधाई दी और केंद्र में मध्य प्रदेश को प्रतिनिधित्व देने के लिए प्रधानमंत्री मोदी को धन्यवाद दिया। मध्य प्रदेश भाजपा प्रमुख वीडी शर्मा ने भी राज्य के छह सांसदों को अपनी सरकार में शामिल करने के लिए प्रधानमंत्री मोदी को धन्यवाद दिया।

 

Recent Posts