नगर की जल संरचनाओं के पुनजीवन और कायाकल्प के लिए अनुमोदित डीपीआर को मिली सर्वसम्मति से स्वीकृति

सिंगरौली
नगर निगम सिंगरौली महापौर श्रीमती रानी अग्रवाल की अध्यक्षता में मेयर इन काउंसिल की साधारण बैठक में नगर के विकाश के लिए सर्वसहमति से महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए। शहरों और उसके बाहरी इलाकों में जल निकायों के पारिस्थितिकी तंत्र को संतुलन में होना जरूरी है। इसके साथ ही हमारी पुरानी विरासत और धरोहर रूपी जल संरचाओ को पुनर्जीवित और कायाकल्प करना अति आवश्यक है।
जिसके चलते निगम द्वारा अमृत 2.0 योजना अंतर्गत Water Body Rejuvenation हेतु तेलाई तालाब के लिए राशि रुपए 64.71 लाख और वार्ड 43 कचन नदी ग्राम हिर्रवाह मूर्ति विसर्जन पुल के पास के लिए राशि रुपए 484.99 लाख विस्तृत चर्चा उपरांत अनुमोदित डीपीआर को सर्वसम्मति से स्वीकृति प्रदान की गई l

श्रमिकों की वेतन में देरी और पीएफ संबंधित शिकायतें को देखते हुए अब सेडमैप से सीधे श्रमिक लिए जाएंगे।अलग-अलग कार्यों के लिए 500 श्रमिक कुशल / अकुशल सेट मैप से सीधे लिए जाने से निगम की कार्यशैली सुगम होगी l जिससे नगर के विकाश कार्यों में तेजी आएगी। प्रस्ताव अनुसार 1 जुलाई से आगामी एक वर्ष हेतु सेट मैप से श्रमिकों को लिए जाना है । जो श्रमिक पूर्व से आउटसोर्स पर निगम में कार्य कर रहे हैं उन सभी कुशल / अकुशल श्रमिकों को सम्मिलित करते हुए सेट मैप से लिए जायेगा । जिसके प्रस्ताव अनुसार रुपए 9,55,50,165 (नौ करोड पचपन लाख पचास हजार एक सौ पैसट ) रुपए की स्वीकृति चर्चा उपरांत सर्वसम्मति से प्रदान की गई।

मेयर इन काउंसिल के सदस्य खुर्शीद आलम, अंजना शाह, शिव कुमारी, अर्चना विश्वकर्मा, श्यामला, रीतादेवी प्रजापति, बबली शाह, रुकमुन प्रजापति एवम नगर निगम आयुक्त डीके शर्मा, कार्यपालन यंत्र बी वी उपाध्यक्ष, उपायुक्त एवम राजस्व आधिकारी आर पी बेस, अकाउंट ऑफीसर सत्यम मिश्रा, ऑफिस इंचार्ज वीडी सिंह सहित सभी विभागाध्यक्ष बैठक के दौरान उपस्थित रहे ।