देश ने मोदी के खिलाफ जनादेश दिया, लेकिन वह ‘डेमोक्रेसी’ को ‘डेमो-कुर्सी’ बनाना चाहते हैं : कांग्रेस

नई दिल्ली
कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के इस्तीफे के बाद उन पर निशाना साधते हुए बुधवार को कहा कि देश ने मोदी के खिलाफ जनादेश दिया, लेकिन वह ‘डेमोक्रेसी' (लोकतंत्र) को ‘डेमो-कुर्सी' बनाना चाहते हैं। पार्टी महासचिव जयराम रमेश ने 1962 के बाद किसी सरकार के तीसरी बार सत्ता में लौटने के प्रधानमंत्री मोदी की टिप्पणी लेकर भी उन पर कटाक्ष किया और कहा कि पंडित जवाहरलान नेहरू 1952 में 364 सीटों के साथ, 1957 में 371 सीटों के साथ और 1962 में 361 सीटों के साथ प्रधानमंत्री चुने गए थे।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को अपना इस्तीफा राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को सौंप दिया, जिसे राष्ट्रपति ने स्वीकार कर लिया और उनसे नयी सरकार के कार्यभार संभालने तक पद पर बने रहने को कहा। रमेश ने ‘एक्स' पर पोस्ट किया, ‘‘निवर्तमान प्रधानमंत्री अब कार्यवाहक प्रधानमंत्री बन चुके हैं। देश ने इनके ख़िलाफ़ प्रचंड जनादेश दिया है। लेकिन ये डेमोक्रेसी को ‘डेमो-कुर्सी' बनाना चाहते हैं।'' कार्यवाहक प्रधानमंत्री अपना सिकुड़ा हुआ सीना ठोक कर बोल रहे हैं कि 1962 के बाद से कोई सरकार लगातार तीन बार नहीं चुनी गई है।

 उन्होंने एक अन्य पोस्ट में कहा, ‘‘कार्यवाहक प्रधानमंत्री अपनी सिकुड़ी हुई छाती ठोक रहे हैं और दावा कर रहे हैं कि 1962 के बाद से कोई भी सरकार लगातार तीन बार दोबारा नहीं चुनी गई है। इतिहास जिसे ‘मास्टर डिस्टॉर्टियन' भी दोबारा नहीं लिख सकते, वह यह है कि नेहरू 1952 में 364 सीटों के साथ, 1957 में 371 सीटों के साथ और 1962 में 361 सीटों के साथ प्रधानमंत्री चुने गए थे।'' रमेश ने कहा, ‘‘नरेन्द्र मोदी को 2024 में 240 सीटें मिली हैं। यह उनके खिलाफ एक बड़ा जनादेश है। लेकिन वह इस जनादेश को बर्बाद करने पर आमादा हैं।''

Recent Posts