जिम्बाब्वे से हारी टी20 वर्ल्ड कप चैंपियन भारत

भारतीय टीम ने जिम्बाब्वे के खिलाफ पांच टी20 मैचों की सीरीज का आगाज हार के साथ किया है। शुभमन गिल की अगुवाई वाली टीम शनिवार को पहले मुकाबले में 13 रन से हार गई। मेजबान जिम्बाब्वे ने हरारे स्पोर्ट्स क्लब में 116 रन का लक्ष्य रखा। जवाब में भारत की पारी 19.5 ओवर में 102 रन पर सिमट गई। टी20 वर्ल्ड कप 2024 जीतने के बाद भारत का यह पहला मुकाबला था। हालांकि, वर्ल्ड कप विजेता टीम का कोई भी खिलाड़ी इस मैच में नहीं खेला। कप्तान गिल (29 गेंदों में 31, पांच) ने भारत के लिए सबसे ज्यादा रन बनाए। भारत की खस्ता हालत का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि सात खिलड़ाई दहाई का आंकड़ा नहीं छू सके। भारत के 6 विकेट 47 रन पर ही गर गिए थे। डेब्यूटेंट रियान पराग (2) और ध्रुव जुरेल (7) का बल्ला नहीं चला और अभिषेक शर्मा का खाता नहीं खुला। ऋतुराज गायकवाड़ (7) और रिंकू सिंह (2) कमाल नहीं दिखा पाए। वॉशिगंटन सुंदर (34 गेंदों में 27, एक चौका, एक सिक्स) ने काफी देकर तक छोर संभाले रखा मगर टीम को जीत की दहलीज पार नहीं करा पाए। वह आउट होने वाले आखिरी प्लेयर रहे। जिम्बाब्वे की तरफ से टेंडाई चतारा और सिकंदर रजा ने तीन-तीन विकेट निकाले। ब्रायन बेनेट, ब्लेसिंग मुजारबानी,  वेलिंगटन मसाकाद्जा और ल्यूक जोंगवे ने एक-एक विकेट हासिल किया।

इससे पहले, जिम्बाब्वे ने निर्धारित 20 ओवर में 9 विकेट पर 115 रन बनाए। जिम्बाब्वे के लिए क्लाइव मडांडे ने सर्वाधिक रन बनाए। उन्होंने 25 गेंदों में चार चौकों के जरिए नाबाद 29 रन बटोरे। डायोन मायर्स और ब्रायन बेनेट ने 23-23 रन की पारी खेली। ओपनर वेस्ली मधेवेरे ने 21 और कप्तान सिकंदर रजा ने 17 रन का योगदान दिया। जिम्बाब्वे के चार खिलाड़ियों- इनोसेंट काइया, ब्लेसिंग मुजारबानी, वेलिंगटन मसाकाद्जा और जॉनथन कैंपबेल का खाता नहीं खुला।  ल्यूक जोंगवे ने एक रन बनाया। लग रहा था कि जिम्बाब्वे टीम 100 रन से पहले ढेर हो जाएगी लेकिन मडांडे ने अंत तक मोर्चा संभाले रखा। उन्होंने 20वें ओवर में तीन चौके ठोके।भारत के लिए स्पिनर रवि बिश्नोई ने कातिलाना गेंदबाजी की। उन्होंने चार ओवर के स्पेल में 13 रन देकर चार विकेट चटकाए। वॉशिंगटन सुंदर ने दो जबकि मुकेश कुमार और आवेश खान ने एक-एक शिकार किया। सीरीज का दूसरा मुकाबला रविवार को आयोजित होगा।