मनीष वर्मा को जेडीयू का राष्ट्रीय महासचिव बनाया गया , जानें नीतीश कुमार ने क्यों उठाया है यह कदम

पटना

 मंगलवार को जेडीयू में शामिल हुए मनीष वर्मा को पार्टी ने राष्ट्रीय महासचिव की बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है। कार्यकारी अध्यक्ष संजय झा ने यह घोषणा की। ओडिशा कैडर के पूर्व IAS अधिकारी और नीतीश कुमार के पूर्व सचिव वर्मा ने मंगलवार को जेडीयू की सदस्यता ली थी। जेडीयू के कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष संजय कुमार झा ने पार्टी के वरिष्ठ नेता विजय कुमार चौधरी और प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुमार कुशवाहा की मौजूदगी में वर्मा को पार्टी की सदस्यता दिलाई। 2000 बैच के आईएएस अधिकारी वर्मा पटना और पूर्णिया के डीएम भी रह चुके हैं। पार्टी में शामिल होने के बाद मनीष कुमार वर्मा ने कहा कि पहले जेडीयू मेरे दिल में था और अब मैं इस दल में आ गया हूं।

बुधवार को जेडीयू में हुए थे शामिल

2000 कैडर के IAS मनीष कुमार वर्मा JDU में बुधवार ( 9 जुलाई ) को शामिल हुए थे। जेडीयू के कार्यकारी अध्यक्ष संजय झा, प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा और मंत्री विजय चौधरी ने पूर्व आईएएस अधिकारी मनीष कुमार वर्मा को पार्टी की सदस्यता दिलाई थी। बता दें कि मनीष कुमार वर्मा सीएम नीतीश कुमार के परामर्शी भी रह चुके हैं। जेडीयू की सदस्यता ग्रहण के बाद प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा ने उन्हें बुके देकर पार्टी में स्वागत किया था। तब उमेश कुशवाहा ने कहा था कि मनीष वर्मा जी का प्रशासनिक अनुभव रहा है, इनका आना पार्टी के लिए और बेहतर होगा।

तो पावर बैलेंस कर दिया गया!

मनीष वर्मा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृह क्षेत्र नालंदा के रहने वाले हैं। नीतीश कुमार के जिले के साथ-साथ उनकी जाति से भी ताल्लुक रखते हैं। ऐसे में पूर्व आईएएस मनीष वर्मा को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बड़ी जिम्मेदारी सौंपकर पार्टी के अन्य नेताओं को साफ-साफ नीतीश ने संदेश दे दिया है। कहा जा रहा है कि पूर्व आईएएस अधिकारी मनीष कुमार वर्मा JDU के राष्ट्रीय महासचिव बनाकर संजय झा का पावर बैलेंस किया गया है, जो इस वक्त पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष हैं।

Recent Posts