कांग्रेस ने ‘नीट’ के नतीजे में हुए धांधली के आरोपों को देखते हुए तत्काल सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में जांच की मांग

नई दिल्ली
कांग्रेस ने मेडिकल प्रवेश परीक्षा 'नीट' के नतीजे में हुए धांधली के आरोपों को देखते हुए इसकी तत्काल सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में उच्च स्तरीय जांच कराने की मांग की है। साथ ही पार्टी ने नीट परीक्षा का पेपर लीक होने की शिकायतों की अनदेखी करने पर गंभीर सवाल उठाते हुए आरोप लगाया है कि भाजपा की मोदी सरकार देश के युवाओं को धोखा देकर उनके भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही है। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे समेत पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने सरकार ही नहीं परीक्षा का आयोजन करने वाली नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) को पेपर लीक और नतीजों में गड़बड़ी को लेकर आड़े हाथों लेते हुए यह आशंका भी जताई है कि कुछ लोगों को फायदा पहुंचाने के लिए आम परिवारों के बच्चों को धोखा दिया जा रहा है।

पेपर लीक, धांधली और भ्रष्टाचार परीक्षाओं का अभिन्न अंग बने
नीट के नतीजों को लेकर देश भर से बच्चों तथा उनके परिजनों की कांग्रेस के पास आ रही शिकायतों के मद्देनजर मल्लिकार्जुन खरगे ने खुद एक्स पर इस बारे में पोस्ट करते हुए कहा, "पेपर लीक, धांधली और भ्रष्टाचार नीट सहित कई परीक्षाओं का अभिन्न अंग बन गए हैं। इसकी सीधी जिम्मेदारी मोदी सरकार की है। अभ्यार्थियों के लिए भर्ती परीक्षाओं में भाग लेना, फिर अनेक अनियमितताओं से जूझना, पेपर लीक के चक्रव्यूह में फसना, उनके भविष्य से खिलवाड़ है। भाजपा ने देश के युवाओं को ठगा है। हमारी मांग है कि सुप्रीम कोर्ट की देख-रेख में एक उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए जिससे नीट व अन्य परीक्षाओं में भाग लेने वाले हमारे प्रतिभाशाली छात्र-छात्राओं को न्याय मिले।"

एक ही सेंटर के छह छात्रों को 720 में से 720 अंक
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने छात्रों की शिकायतों का समर्थन करते हुए एक्स पर पोस्ट करते हुए कहा, "पहले नीट परीक्षा का पेपर लीक हुआ और अब छात्रों का आरोप है कि इसके रिजल्ट में भी घोटाला हुआ है। एक ही सेंटर के छह छात्रों को 720 में से 720 अंक मिलने पर गंभीर सवाल उठ रहे हैं और कई तरह की अनियमितताओं की बातें सामने आ रही हैं। दूसरी ओर रिजल्ट आने के बाद देश भर में कई बच्चों के आत्महत्या करने की खबरें हैं। यह बहुत दुखद और झकझोरने वाला है।"

सरकार लाखों छात्रों की आवाज को अनसुना क्यों कर रही
प्रियंका ने सवाल उठाते हुए कहा कि सरकार लाखों छात्रों की आवाज को अनसुना क्यों कर रही है? छात्र-छात्राओं को नीट परीक्षा के परिणाम में धांधली से जुड़े वाजिब सवालों के जवाब चाहिए। क्या सरकार की जिम्मेदारी नहीं बनती कि वो जांच कराकर इन वाजिब शिकायतों का निस्तारण करे।

लाखों छात्रों से जुड़ा यह घोटाला अस्वीकार्य
कांग्रेस के संचार महासचिव जयराम रमेश ने कहा, "लाखों छात्रों से जुड़ा यह 'घोटाला' पूरी तरह से अस्वीकार्य और अक्षम्य है जिसकी सर्वोच्च न्यायालय की निगरानी में उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए।" उन्होंने कहा कि नीट में पेपर लीक होने की खबर आई थी, जिसे दबा दिया गया और अब छात्रों का आरोप है कि कुछ लोगों के नंबर बढ़ा दिए गए जिसके कारण रिकॉर्ड 67 अभ्यर्थियों ने शीर्ष स्थान प्राप्त किया है।

कांग्रेस ने धांधली की आधिकारिक मांग की
कांग्रेस की ओर से गुरूवार को ही महासचिव रणदीप सुरजेवाला तथा सोशल मीडिया विभाग की प्रमुख सुप्रिया श्रीनेत की ओर से नीट के नतीजों पर गंभीर सवाल उठाते हुए धांधली की आशंका जाहिर कर दी गई थी। कांग्रेस की युवा इकाई तथा एनएसयूआई के प्रभारी कन्हैया कुमार तथा एनएसयूआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष वरुण चौधरी ने पार्टी मुख्यालय में प्रेस कांफ्रेंस करते हुए सुप्रीम कोर्ट से नीट के नतीजों में हुई कथित धांधली की पार्टी की ओर से आधिकारिक मांग की।

Recent Posts