छत्तीसगढ़-बिलासपुर में पुलिस आरक्षक कॉल-मैसेज कर देता था खतरनाक अपराधियों को करवाई की सूचना

बिलासपुर.

आपराधिक गतिविधियों में संलिप्त आरक्षक को सेवा से बर्खास्त कर दिया गया है। कुछ दिनों पहले हिर्री थाना क्षेत्रान्तर्गत बाईपास स्थित ग्राम बेलमुंडी में खूंखार अपराधियों द्वारा पिस्टल,देशी कट्टा और धारदार चापड़ से लैस होकर किसी घटना को अंजाम देने की सूचना पुलिस को मिली थी। जिसमें 10 अपराधियों को पकड़ा था। जिसमें एक आरक्षक लगातार अपराधियों के फोन और मैसेज कर संपर्क में था। इसपर उसे बर्खास्त कर दिया गया।

दरअसल, हिर्री पुलिस को 12 मई को मुखबिर से सूचना मिली कि बिलासपुर रतनपुर बाईपास हाईवे के ग्राम बेलमुंडी में एक यार्ड नुमा जगह में करीब 8 से 10 शातिर खतरनाक अपराधी अपने पास देसी बंदूक और धारदार हथियार रखे हुए हैं। इसकी सूचना पर पुलिस ने अलग-अलग चार टीम बनाई और चारों टीम को शनिवार की रात 9:15 में यार्ड के चारों तरफ घेर लिया। इस दौरान पुलिस को देखकर यार्ड में छुपे अपराधी लोडेड पिस्तौल देसी कट्टा और धारदार हथियार लहराते हुए पुलिस को गोली मारने की धमकी देने लगे थे। लेकिन, पुलिस ने घेराबंदी कर सभी 10 आरोपियों को पकड़ लिया। अपराधियों से एक देसी ऑटोमेटिक पिस्टल, दो देसी कट्टा, एक दर्जन से ज्यादा जिंदा कारतूस और कई धार हथियार सहित 21 किलो गांजा, दो कार और दो ट्रक बरामद हुए। इसी बीच पता चला कि सिरगिट्टी थाना में पदस्थ आरक्षक बबलू बंजारे आरोपीयो के मोबाइल पर लगातार संपर्क में था। आरक्षक अपने विभाग के हर गतिविधियों की जानकारी इन अपराधियों को देता था। पुलिस अधीक्षक ने जांच उपरांत तत्काल उसे निलंबित कर दिया था। वहीं मामले की विस्तार पूर्वक जांच शुरू की गई। इस दौरान आरोपियों के मोबाइल की डिटेल निकाली गई। जिसमें आरक्षक बबलू बंजारे लगातार उनके संपर्क में रहने की बात सामने आई। फिलहाल, आरक्षक को बर्खास्त कर दिया गया है।

Recent Posts