काले हिरण पर कुत्तों ने किया हमला, ग्रामीणों ने जान बचाकर उसे वन विभाग को सौंपा

दमोह

दमोह जिले के देहात थाना क्षेत्र के भौरांसा गांव में ग्रामीणों ने काले हिरण को कुत्तों के हमले से बचा लिया। उसे वन विभाग को सौंप दिया। हिरण घायल हो गया है। उसका डॉक्टर इलाज कर रेह हैं। मामला सोमवार रात का है।

सोमवार रात काला हिरण जंगल से निकलकर भौरांसा गांव के पास पहुंच गया था। वहां घूम रहे आवारा कुत्तों ने हिरण को देख लिया। उसे खदेड़ना शुरू कर दिया। उसका शिकार करने की कोशिश की। गांव के लोगों ने जब काले हिरण के पीछे कुत्तों का झुंड देखा तो उन्होंने पहले आवारा कुत्तों को वहां से भगाया। उसके बाद हिरण को पकड़ लिया। इस दौरान काला हिरण घायल हो गया था। इस कारण ठीक से भाग नहीं पा रहा था। ग्रामीणों ने पुलिस और वन विभाग को इसकी सूचना दे दी। बाद में वन विभाग के कर्मचारी हिरण को साथ लेकर गए और इलाज करने के बाद मंगलवार सुबह जंगल में छोड़ दिया।

दमोह जिले में चारों तरफ जंगल है, जहां बड़ी संख्या में जंगली जानवर हैं। खास तौर पर हिरण की संख्या काफी अधिक है। बारिश के मौसम में खेतों में खाने-पीने के चक्कर में हिरन के झुंड गांव तक पहुंच जाते हैं। यदि कोई भटक जाए तो वह गांव में घुस जाता है। कुछ दिन पहले ही कलेक्टर ने भी खेतों में हिरणों के झुंड को देखकर अपने मोबाइल में उनके फोटो सोशल मीडिया पर शेयर किए थे। काला हिरण विलुप्त प्रजाति का हिरण है। इस वजह से उसका संरक्षण भी किया जाता है।