भोपाल क्राइम ब्रांच ने एक बार फिर गांजे की बड़ी खेप पकड़ी, छह तस्कर गिरफ्तार, 26 किग्रा गांजा बरामद

भोपाल
भोपाल क्राइम ब्रांच ने एक बार फिर गांजे की बड़ी खेप को पकड़ा है। इसमें जीजा-साले समेत छह मादक पदार्थ तस्करों को गिरफ्तार किया है। इस गिरोह के पास से 26 किलो पांच सौ ग्राम गांजा बरामद किया गया है। चौंकाने वाली बात यह है कि मादक पदार्थ तस्कर गिरोह के छह साथियों में से एक मथुरा (उप्र), एक ग्वालियर और एक मुरैना का तस्कर भी पुलिस के हत्थे चढ़ा, जो डिलीवरी लेने आए थे। यह तस्कर ओडिशा व आंध्र प्रदेश से ट्रेन से गांजा भोपाल लाते थे। उसके बाद भोपाल से मप्र के अन्य जिलों में गांजा भेजा जाता था। क्राइम ब्रांच की 30 दिन में यह छठवीं कार्रवाई है, जब गांजा तस्करों को गिरफ्तार किया गया है।

क्राइम ब्रांच के मुताबिक मुखबिर से सूचना मिली थी कि भोपाल के मंगलवारा में पुष्पा अपार्टमेंट के पास रेल पटरियों में कुछ लोग गांजा बेच रहे हैं। क्राइम ब्रांच थाने से दो टीमें मौके के लिए रवाना हुईं और घेराबंदी कर सभी छह लोगों को हिरासत में लेकर क्राइम ब्रांच लाया गया। इसमें दो महिलाएं भी शामिल थीं।

26 किग्रा गांजा बरामद
आरोपितों की तलाशी ली गई तो उनके पास रखे बैगों से करीब 26,500 किग्रा गांजा बरामद किया गया। बाद में आरोपितों की पहचान रानी की मंडी मथुरा निवासी 23 वर्षीय विनय शर्मा, गुड़ागुड़ी का नाका सिकंदर कंपू ग्वालियर निवासी 26 वर्षीय श्याम जोशी, मेघपुर जिला मुरैना निवासी 32 वर्षीय सोनू शर्मा, महल गांव ग्वालियर निवासी 35 वर्षीय जितेंद्र शर्मा, कल्याण नगर छोला मंदिर निवासी 48 वर्षीय सुनीता कुचबदिया और ग्राम महावन लटेरी जिला विदिशा निवासी 56 वर्षीय नरवदी भील के रूप में हुई। इसमें श्याम जोशी बीसीए की पढ़ाई कर रहा है।

आरोपित पुराने मादक पदार्थ तस्कर हैं। पहले भी मादक पदार्थ तस्करी में गिरफ्तार हो चुके हैं। इसमें मथुरा, ग्वालियर और मुरैना के तस्कर गांजे की डिलीवरी लेने भोपाल आए थे, विनय शर्मा पूर्व में आंध्र प्रदेश में मादक पदार्थ तस्करी में जेल में बंद रह चुका है।

ट्रेन के रास्ते लाते थे भोपाल
क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तारी के बाद पूछताछ की तो आरोपितों ने बताया कि इन दिनों भोपाल मादक पदार्थ तस्करी का सुरक्षित स्थान बनता जा रहा है। यहां आंध्र प्रदेश व ओडिशा से ट्रेन में गांजा लाकर भोपाल में उतारकर उसे फुटकर में आसपास सप्लाई कर देते हैं। भोपाल स्टेशन पर गांजा उतारकर उसे प्रदेश के अन्य जिलों में भेज देते हैं।

Recent Posts